बोपन्ना-रामकुमार की जोड़ी एडीलेड इंटरनेशनल के फाइनल में पहुंची

लेखक:झोंगशा द्वीप समूह और उनके जल के द्वीप और चट्टानेंस्रोत:सोंगयुआन सिटीब्राउज़: 【बड़ा मध्यम छोटा】 जारी करने का समय:2022-10-02 03:41:33 टिप्पणियों की संख्या:

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीसोनिया गांधी ने विपक्षी दलों के साथ बैठक में मोदी सरकार को घेरने के लिए बनाई नई रणनीति, कहा- राष्ट्रहित में एकसाथ आना होगा****** कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को 19 दलों के विपक्षी नेताओं के साथ वर्चुअल बैठक की। बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि योजनाबद्ध तरीके से 2024 लोकसभा चुनाव की तैयारी हो। सोनिया गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ एकजुटता पर बल देते हुए कहा कि विपक्ष को मतभेद भुलाकर राष्ट्रहित में एक साथ आना होगा। सोनिया गांधी ने कहा कि देशहित को ध्यान में रखते हुए संसद के अंदर और बाहर विपक्षी दलों को एकजुट रहना होगा। विपक्ष की एकता अगले संसद सत्र में भी नजर आएगी। एक साथ मिलकर काम करने का कोई विकल्प नहीं है। सोनिया गांधी ने कहा किसमय आ गया है, हम सभी मजबूरियों से ऊपर उठें।मोदी सरकार के कामकाज को घेरते हुए ने कहा कि सरकार के अड़ियल रुख की वजह से मॉनसून में कामकाज नहीं हुआ। बैठक में एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि देश में मौजूदा माहौल बहुत निराशाजनक है। किसान कई महीने से विरोध कर रहे हैं, भारत के लिए दर्दनाक तस्वीर है। देश इन दिनों मंदी, कोरोना, बेरोजगारी, सीमा विवाद का सामना कर रहा है।विपक्ष की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि संसद में विपक्षी एकता का भरोसा, लेकिन इसके बाहर बड़ी राजनीतिक लड़ाई लड़नी होगी। पेगासस जासूसी मुद्दे पर चर्चा करने के लिए सरकार की अनिच्छा के कारण संसद का मॉनसून सत्र पूरी तरह बेकार चला गया। अंतिम लक्ष्य 2024 के लोकसभा चुनाव हैं, स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्यों में विश्वास करने वाली सरकार देने के लिए व्यवस्थित रूप से योजना बनानी होगी। सोनिया गांधी की वर्चुअल बैठक में किसानों का मुद्दा उठाया। ममता बनर्जी ने बैठक में कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सरकार से मुकाबला करने के लिए आपसी मतभेद भुलाने होंगे।कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा शुक्रवार को बुलायी गयी विपक्षी नेताओं की डिजिटल बैठक में शिरकत करने के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने कहा कि जो लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करते हैं उन्हें साथ आना चाहिए तथा समयबद्ध कार्यक्रम तैयार करना चाहिए । उन्होंने देश की वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर समान-विचारधारा के दलों की बैठक आयोजित करने की पहल की तारीफ की।पूर्व केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘भारत में वर्तमान परिदृश्य बहुत निराशाजनक प्रतीत होता है। किसान कई महीनों से विरोध कर रहे हैं, यह भारत जैसे लोकतांत्रिक देश के लिए एक दर्दनाक तस्वीर है। आर्थिक मंदी, कोविड महामारी, बेरोजगारी, सीमा विवाद, अल्पसंख्यक समुदायों का मुद्दा आदि कई मुद्दों का राष्ट्र आज सामना कर रहा है।’’ उन्होंने लिखा कि वर्तमान सरकार इन सभी मुद्दों को हल करने में विफल रही है।उन्होंने कहा, ‘‘ जो लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता में विश्वास करते हैं; जो लोग हमारे देश के लोकतांत्रिक सिद्धांतों को बचाने के लिए मिलकर काम करना चाहते हैं, उन्हें एक साथ आना चाहिए।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ एक समयबद्ध कार्यक्रम को सामूहिक रूप से शुरू करने की आवश्यकता है और मैं ये सुझाव देता हूं कि इन सभी मुद्दों को एक साथ निपटने के बजाय, हमें प्राथमिकता तय कर के सामूहिक रूप से एक- एक करके इन मुद्दों को सुलझाने के लिए और अपने देश को एक अच्छा वर्तमान और भविष्य देने के लिए कार्य करना चाहिए।’’ राकांपा एवं शिवसेना समेत 19 दलों ने सोनिया गांधी द्वारा बुलायी गयी बैठक में हिस्सा लिया।

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीजुलाई-सितंबर तिमाही में लघु बचत योजनाओं पर मिलेगा कम ब्‍याज, सरकार ने ब्‍याज दर 0.1 प्रतिशत घटाई******Govt cuts interest rate on small savings schemes by 0.1 pcराष्ट्रीय बचत प्रमाण-पत्र (एनएससी) और लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) समेत अन्य छोटी बचत पर सरकार ने शुक्रवार को जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए ब्याज दर 0.1 प्रतिशत कम कर दी। बैंकिंग क्षेत्र में ब्याज दरों में आ रही कमी को देखते हुए सरकार ने यह कदम उठाया है। भारतीय रिजर्व बैंक इस साल तीन बार में अपनी नीतिगत दरों में कुल मिला कर 0.75 कटौती कर चुका है। बचत खाता जमा पर ब्याज दर को छोड़कर सरकार ने अन्य सभी योजनाओं पर ब्याज दर में 0.1 प्रतिशत की कमी की है। बचत जमा खाते पर ब्याज दर चार प्रतिशत वार्षिक ही बनी रहेगी। वित्त मंत्रालय ने वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के लिए संशोधित ब्याज दरों की अधिसूचना जारी कर दी है। ‘सरकार के निर्णय के आधार पर लघु बचत योजनाओं के लिए तिमाही आधार पर ब्याज दरें अधिसूचित की जाती है।इस कटौती के बाद अब पीपीएफ एवं एनएससी पर वार्षिक ब्याज दर 7.9 प्रतिशत होगी जो अभी आठ प्रतिशत है। वहीं 113 महीने की परपक्वता वाले किसान विकास पत्र (केवीपी) पर 7.6 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा। अभी यह 112 महीने की परिपक्वता पर 7.7 प्रतिशत है। सुकन्या समृद्धि खाते पर अब 8.4 प्रतिशत ब्याज मिलेगा जो फिलहाल 8.5 प्रतिशत है। एक से तीन वर्ष की अवधि वाले सावधि जमा पर अब 6.9 प्रतिशत और पांच वर्ष की अवधि पर 7.7 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा। आवर्ति जमा के लिए यह ब्याज 7.3 प्रतिशत के बजाय 7.2 प्रतिशत होगा। पांच साल की अवधि वाली वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दर अब 8.7 प्रतिशत की बजाय 8.6 प्रतिशत होगी।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीइंग्लिश प्रीमियर लीग : वाटफोर्ड ने रोका लिवरपूल का विजयरथ, 3-0 से दर्ज की शानदार जीत******वाटफोर्ड ने इंग्लिश प्रीमियर लीग में खेले गए मुकाबले में यूरोपियन चैम्पियन लिवरपूल क्लब को 3-0 से करारी मात दी। इस हार के साथ ही लिवरपूल का इस सीजन में चला आ रहा विजयक्रम भी रुक गया। विकारेज स्टेडियम में खेले गए इस मैच में वाटफोर्ड के लिए इस्माइला सार ने दूसरे हाफ में छह मिनट के अंदर ही दो गोल करके अपनी टीम को 2-0 से आगे कर दिया।सार ने ये गोल 54वें और 60वें मिनट में किए। इसके बाद कप्तान ट्रॉय डीने ने 72वें मिनट में एक और गोल करके वाटफोर्ड को मुकाबले में 3-0 से आगे कर दिया।लिवरपूल की इस सीजन में 28 मैचों में पहली हार है। हार के बावजूद लिवरपूल की टीम 79 अंकों के साथ पहले नंबर पर मौजूद है। उसके दूसरे नंबर पर कायम मैनचेस्टर सिटी से 22 अंक ज्यादा है। वहीं, वाटफोर्ड 17वें नंबर पर है।लिवरपूल ने अगर वॉटफोर्ड को हरा दिया होता तो वह लगातार 19 जीत के साथ लीग में एक साथ सबसे अधिक जीत के मैनचेस्टर युनाइटेड के रिकार्ड को तोड़ देता।

बोपन्ना-रामकुमार की जोड़ी एडीलेड इंटरनेशनल के फाइनल में पहुंची

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंची6 हजार करोड़ रुपये के शुरुआती निवेश से स्‍थापित होगा बैड बैंक, IBA ने लाइसेंस के लिए RBI को दिया आवेदन******IBA moves RBI seeking licence to set up Rs 6,000cr NARCL इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (IBA) ने 6,000 करोड़ रुपये की राष्ट्रीय संपत्ति पुनर्गठन कंपनी लि. (NARCL) या बैड बैंक के गठन के लिए लाइसेंस को रिजर्व बैंक के पास आवेदन किया है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। कंपनी पंजीयक (आरओसी) के पास पंजीकरण के बाद एनएआरसीएल का गठन पिछले महीने हुआ था। सूत्रों ने बताया कि 100 करोड़ रुपये की शुरुआती पूंजी जुटाने तथा अन्य कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद कंपनी ने संपत्ति पुनर्गठन कारोबार का लाइसेंस लेने के लिए रिजर्व बैंक के पास आवेदन किया है। रिजर्व बैंक ने 2017 में पूंजी की जरूरत को पूर्व के दो करोड़ रुपये से बढ़ाकर 100 करोड़ रुपये कर दिया था। को खरीदने के लिए अधिक नकदी की जरूरत को देखते हुए रिजर्व बैंक ने यह कदम उठाया था। सूत्रों ने कहा कि इस तरह के कारोबार के लिए लाइसेंस देने को रिजर्व बैंक की अपनी प्रक्रिया है। नियामक से इसका लाइसेंस लेने में कुछ सप्ताह का समय लग सकता है। सूत्रों ने कहा कि इसके लिए रिजर्व बैंक की मंजूरी सितंबर या अक्टूबर में मिल सकती है।विभिन्न नियामकीय मंजूरियों और अन्य कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए कानूनी सलाहकार एजेडबी एंड पार्टनर्स की सेवाएं ली गई हैं। आईबीए को बैड बैंक की स्थापना की जिम्मेदारी सौंपी गई है। उसने एनएआरसीएल के लिए शुरुआती बोर्ड बनाया है। कंपनी ने भारतीय स्टेट बैंक से दबाव वाली संपत्तियों के विशेषज्ञ पी एम नायर को इसका प्रबंध निदेशक बनाया है। बोर्ड के अन्य सदस्यों में आईबीए के मुख्य कार्यकारी सुनील मेहता, एसबीआई के उप प्रबंध निदेशक एस एस नायर और केनरा बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अजित कृष्ण नायर शामिल हैं।वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2021-22 में घोषणा की थी कि बैंक बुक्‍स को साफ-सुथरा करने के लिए सार्वजनिक बैंकों द्वारा अपने तनावग्रस्‍त संपत्ति के लिए उच्‍च स्‍तर का प्रावधान किया जाता है। उन्‍होंने कहा था कि मौजूदा तनावग्रस्‍त कर्ज को कंसोलिटेड करने और उसका प्रबंधन करने के लिए एक असेट रिकंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी लिमिटेड और असेट मैनेजमेंट कंपनी की स्‍थापना की जाएगी।सार्वजनिक बैंक केनरा बैंक ने 12 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ एनएआरसीएल का मुख्‍य प्रायोजक बनने की इच्‍छा प्रकट की थी। प्रस्‍तावित एनएआरसीएल में 51 प्रतिशत हिस्‍सेदारी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की और शेष हिस्‍सेदारी प्राइवेट-सेक्‍टर की होगी। एनएआरसीएल बैंकों द्वारा चिन्हित तनावग्रस्‍त ऋण का प्रबंधन देखेगी। बैंकों ने शुरुआती चरण में एनएआरसीएल को ट्रांसफर करने के लिए 89,000 करोड़ रुपये मूल्‍य के लिए लगभग 22 तनावग्रस्‍त ऋणों की पहचान की है।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीBollywood Wrap: KGF एक्टर ने आर्थिक मदद की गुहार लगाई , Amitabh Bachchan ने की अपने बाथरूम की सफाई****** बड़े पर्दे से लेकर छोटे पर्दे तक की हर जानकारी पर लोगों की नज़र रहती है। ऑडियंस हमेशा अपने फेवरेट सितारों की ज़िंदगी में चल रही हलचल के बारे में जानना चाहती है। एंटरटेनमेंट और गॉसिप की दुनिया पर लोगों की पैनी नज़रे रहती हैं। क्योंकि यहां हर पल कुछ नया होता ही रहता है। ऐसे में टीवी जगत हो या बॉलीवुड दोनों इंडस्ट्री की सारी बड़ी खबरें लेकर हम आपके सामने आए हैं। चलिए जानते हैं आज की 5 बड़ी खबरों के बारे में...फेमस तेलुगू एंकर से अभिनेत्री बनीं अनसूया भारद्वाज (Anasuya Bharadwaj) का ट्वीट लगातार सुर्खियां बटौर रहा है। दरअसल विजय देवरकोंडा के फैंस ने एक्ट्रेस की उम्र और लुक्स को लेकर ट्रोल किया था। जिसपर अब अनसूया ने ट्रोलर्स को करारा जवाब दिया है। अनसूया भारद्वाज ने ट्रोल करने वालों और उनकी उम्र को लेकर कमेंट करने वालों को चेतावनी दी है कि वह हर गाली को रिट्वीट करेंगी ताकि यह दिखाया जा सके कि एक महिला के साथ क्या होता है जो वह अपने सम्मान के लिए अपनी लड़ाई लड़ती है।'केजीएफ: चैप्टर 2' में कासिम चाचा का रोल प्ले करने वाले कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने एक्टर हरीश राय ने आर्थिक मदद के लिए गुहार लगाई है। एक्टर ने खुलाया किया है कि वो पिछले 3 साल से कैंसर से जूझ रहे हैं। एक्टर का कहना है कि - 'स्थितियां आपको महानता प्रदान कर सकती हैं या चीजें आपसे दूर ले जा सकती हैं। भाग्य से बचने का कोई रास्ता नहीं है। मैं 3 साल से कैंसर से लड़ रहा हूं। 'केजीएफ' में मेरी लंबी दाढ़ी होने के पीछे एक कारण था और वो थी ये बीमारी। इस बीमारी के कारण मेरी गर्दन में जो सूजन थी उसे छिपाने के लिए मैंने दाढ़ी रखी थी।'अमिताभ बच्चन (Amitabhy Bachchan) दूसरी बार कोरोना का शिकार हो गए हैं। एक्टर ने अपने ब्लॉग के जरिए अपनी हेल्थ अपडेट सभी के साथ शेयर की है। साथ ही सभी को बताया है कि कोरोना के बाद उनकी ज़िंदगी में किस तरह के बदलाव आए हैं और आजकल वो पूरा दिन क्या-क्या करते हैं। उन्होंने एक लंबा पोस्ट कर बताया कि कैसे नए स्टाफ को चीजें समझाने में दिक्कत हो रही है और इस वजह से वह सारा काम खुद कर रहे हैं।सीरियल 'अनुपमा' (Anupamaa) में आए दिन नए-नए ड्रामे देखने को मिल ही जाते हैं। मिली जानकारी के अनुसार किंजल यानी एक्ट्रेस निधि शाह (Nidhi Shah) भी शो को छोड़ने की तैयारी कर चुकी हैं। शो में एक दुखद ट्विस्ट आने वाला है। अपने बच्चे को जन्म देते हुए किंजल की जान चली जाएगी।अर्जुन कपूर (Arjun Kapoor ) और मलाइका अरोड़ा (Malaika Arora) अपने प्यार को लेकर अक्सर खबरों में बने रहते हैं। सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें अर्जुन और मलाइका का कॉज़ी रोमांस देखने को मिल रहा है। एक्टर अपनी गर्लफ्रेंड के हिट गाने 'चल छैया छैया' पर जमकर थिरकते हुए नज़र आ रहे हैं। दोनों की कैमिस्ट्री देखने लायक है। दोनों साथ में बेहद प्यारे लग रहे हैं। इस वीडियों पर दोनों के फैंस जमकर प्यार लुटा रहे हैं।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीBihar News: बिहार के मंत्री बोले: 'अगर आप सभी जिंदा हैं तो पीएम मोदी की वजह से'******Highlightsआपने बीजेपी का फेमस नारा ‘मोदी है तो मुमकिन है' तो सुना ही होगा। लेकिन बिहार सरकार में बीजेपी कोटे से मंत्री रामसूरत राय ने अब इस नारे को बदल दिया है। उन्होंने अब 'मोदी हैं तो जिंदा है' नया नारा दिया है। रामसूरत राय बिहार सरकार में राजस्‍व एवं भूमि सुधार विभाग के मंत्री हैं। उन्‍होंने कहा कि आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वजह से जिंदा हैं।बिहार सरकार में राजस्व मंत्री और बीजेपी विधायक रामसूरत राय ने एक सभा को संबोधित करते हुए लोगों को बिहार में कोरोना काल की याद दिलाई। उन्‍होंने कहा कि, "आपको याद होगा कोरोना काल। इस दौरान सभी देशों का बुरा हाल था। बगल में पाकिस्तान का भी हालत टीवी मीडिया के माध्यम से आप सभी ने देखा होगा। यहां भी जितने लोग हैं उनके दोस्‍त, रिश्तेदार में कहीं न कहीं कोई न कोई मौत कोरोना से जरूरी हुई है।" उन्‍होंने कहा कि मेरे घर में भी कोरोना से रिश्‍तेदार की मौत हुई। इस दौरान हमारे देश के पीएम मोदी नेसभी कामुफ्त में टीकाकरण कराया।रामसूरत राय ने आगे बोलते हुए कहा कि, "अगर आज मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नहीं होते तो शायद कोई जिंदा नहीं होता।" प्रधानमंत्री और सरकार की तारीफ करते हुए उन्‍होंने कहा विकास का काम हो रहा है, और विकास होना चाहिए। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं। सरकारें व्यवस्था के तहत चलती हैं, सरकार धीरे धीरे काम कर रही है। सरकार पहले आपके जान-माल की सुरक्षा कर रही है। इससे जो पैसा बचता है उससे विकास हो रहा है। कोरोना की वजह से 2-3 वर्षों में अर्थव्यवस्था गड़बड़ाई है।वायरल वीडियो में बीजेपी के एससी, एसटी मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री एस. कुमार भी थे। इसके अलावा राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य, सीताराम रवि, कपिल कुमार और संजीव कुमार के साथ औराई के सभी मंडलों के संबंधित मोर्चा और कई नेता इस कार्यक्रम में उपस्थित थे। आपको बता दें कि बिहार सरकार में मंत्री रामसूरत राय अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। इससे पहले वे एक सीओ के तबादले पर रोक लगाने से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराज हो गए थे। जिसके बाद उन्होंने अपने मंत्री पद से इस्तीफा तक देने की पेशकश कर दी थी।

बोपन्ना-रामकुमार की जोड़ी एडीलेड इंटरनेशनल के फाइनल में पहुंची

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीविद्या बालन 'भूल भुलैया 2' में 'मोंजुलिका' के किरदार में एक बार फिर नजर आएंगी?******Highlightsफिल्म 'भूल भुलैया' में विद्या बालन के 'मोंजुलिका' का किरदार सभी को याद ही होगा। यह किरदार उनके सबसे पसंदीदा कैरेक्टर में से एक है। हाल ही में, एक रिपोर्ट ने इस खबर की पुष्टि की गई है कि विद्या बालन, कार्तिक आर्यन, कियारा आडवाणी और तब्बू स्टारर 'भूल भुलैया 2' में 'मोंजुलिका' के रूप में दिखाई देंगी ।मीडियारिपोर्ट्स में बताया गया है कि विद्या और 'भूल भुलैया' के निर्देशक अनीस बज्मी की गहरी दोस्ती है। साल 2011 में भी अभिनेत्री ने उनकी फिल्म 'थैंक यू' में एक कैमियो भूमिका निभाई थी। ऐसा बताया जा रहा है कि विद्या अनीस बज्मी की फिल्म में 'मोंजुलिका' के कैमियो किरदार में नजर आने वाली हैं। हालांकि, यह अभी भी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि वह किसी गाने पर डांस करती नजर आएंगी या क्लाइमेक्स के बाद दिखाई देंगी।रिपोर्ट्स में आगे खुलासा हुआ कि अनीस ने इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने मोंजुलिका को अपना पसंदीदा किरदार बताया है और कहा कि अगर विद्या फिल्म 'भूल भुलैया' में हैं, तो उन्हें 'भूल भुलैया 2' में भी होना चाहिए। हालांकि, इस बात में कितनी सच्चाई है ये या तो विद्या बालन जानती हैं या अनीस बज्मी खुद जानते हैं।विद्या की एक्टिंग जर्नी कम उम्र से शुरू हुई और उन्होंने 2005 में रोमांटिक फिल्म 'परिणीता' के साथ बॉलीवुड में शुरुआत की, जिसमें सैफ अली खान और संजय दत्त मुख्य भूमिकाओं में थे।अभिनेत्री कई अवॉर्ड्स अपने नाम कर चुकी हैं, जिसमें एक राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और छह फिल्मफेयर पुरस्कार शामिल हैं। विद्या ने अपनी पहली अभिनय भूमिका 1995 की हिट शो 'हम पांच' में की थी, जिसमें अनुभवी अभिनेता शोमा आनंद ने भी अभिनय किया था।अभिनेत्री को आखिरी बार 'शेरनी' में देखा गया था जो ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई थी।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीबिलावल भुट्टो Coronavirus से संक्रमित, सामने आए Covid-19 के 3,009 नए मामले****** पाकिस्तान में विपक्षी पार्टी पीपीपी के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी कोरोना वारयस से संक्रमित पाए गए हैं। पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के 32 वर्षीय अध्यक्ष और देश की दो बार प्रधानमंत्री रहीं बेनजीर भुट्टो के बेटे बिलावल भुट्टो ने बृहस्पतिवार को कहा कि उनके संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद से वह पृथक-वास में चले गए हैं।बिलावल ने ट्वीट किया, “मैं से संक्रमित पाया गया हूं और स्वयं पृथक-वास में हूं। मुझमें बीमारी के मामूली लक्षण हैं। मैं घर से काम करना जारी रखूंगा और वीडियो लिंक के माध्यम से पीपीपी स्थापना दिवस के कार्यक्रम को संबोधित करूंगा।“उनके राजनीतिक सचिव जमील सूमरो के संक्रमित पाए जाने के बाद, उन्होंने बुधवार को खुद को राजनीतिक गतिविधियों से दूर रखने का फैसला किया था।इस बीच पाकिस्तान में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 3,306 नए मरीजों की पुष्टि हुई जिसके बाद बृहस्पतिवार को कुल मामले बढ़कर 3,86,198 पहुंच गए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि बीमारी के कारण 40 और लोगों ने दम तोड़ दिया है। मृतक संख्या 7,843 पहुंच गई है।देश में सक्रिय मामलों की संख्या 41,115 हो गई है, जिसमें से 1,867 मरीजों की हालत गंभीर बताई जा रही है। पाकिस्तान में कोरोना वायरस के प्रसार को बढ़ता देख यहां की सरकार ने दूसरी लहर के दौरान वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देश भर में नए प्रतिबंध लगा दिया है।

बोपन्ना-रामकुमार की जोड़ी एडीलेड इंटरनेशनल के फाइनल में पहुंची

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीजाह्नवी कपूर ने जुहू में खरीदा नया आशियाना, स्टैंप ड्यूटी इतनी कि एक घर खरीद लो******खबर है कि एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर ने हाल ही में जुहू में अपने लिए एक नया घर खरीदा है। स्क्वायर फीट इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक जुहू की एक आलीशान इमारत में तीन मंजिलों में फैले इस घर की कीमत 39 करोड़ रुपए है। बताया जा रहा है कि पिछले साल सात दिसंबर को ही जाह्नवी कपूर ने इस घर को खरीदने की सारी औपचारिकताएं पूरी की थी। धड़क फिल्म से डेब्यू करने वाली जाह्नवी अभी तक अपने पिता और बहन खुशी के साथ लोखंडवाला में ही रहती थीं।स्क्वायर फीट इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार जाह्नवी का नया घर 3456 स्क्वायर फीट का है जिसके लिए 78 लाख की स्टैंप ड्यूटी अदा की गई। जाह्नवी आखिरी बार फिल्म कागरिल गर्ल - गुंजन सक्सेना में दिखाई थी। उनके हाथ में अभी दोस्ताना 2 और रूही आफजा जैसी फिल्में हैं।आपको बता दें कि श्रीदेवी और बोनी कपूर की बेटी होने के नाते जाह्नवी को शानदार फिल्म धड़क से डेब्यू मिला। इस फिल्म में उनके साथ शाहिद कपूर के भाई ईशान खट्टर थे।फिलहाल की बात करें तो जाह्नवी इस समय कार्तिक आर्य़न के साथ गोवा में हैं। कहा जा रहा है कि वो दोनों वहां दोस्ताना 2 की शूटिंग के लिए गए हैं।

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीCBSE CTET 2020 exam: 5 जुलाई को होने वाली सीटीईटी परीक्षा स्थगित, केंद्रीय मंत्री ने दी जानकारी******केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने आज गुरुवार को बताया कि आगामी 5 जुलाई को आयोजित होने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (CTET) परीक्षा (CTET July 2020 Exam) को स्थगित करने का फैसला लिया गया है।केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने आगामी 5 जुलाई को होने वाली केंद्रीय शिक्षक अर्हता परीक्षा बृहस्पतिवार को स्थगित कर दी जो अब स्थिति अनुकूल होने पर आयोजित की जाएगी। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने यह बात कही। निशंक ने कहा, 'पांच जुलाई को होने वाली सीटीईटी की 14 वीं परीक्षा स्थगित कर दी गयी है। जब परीक्षा के आयोजन के लिए स्थिति अधिक अनुकूल होगी तब परीक्षा की नयी तारीख की सूचना दी जाएगी।'उच्चतम न्यायालय को आज गुरुवार को सूचित किया गया कि कोविड-19 महामारी के मद्देनजर और आईसीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं कक्षाओं की शेष परीक्षायें रद्द कर दी गयी हैं। ये परीक्षायें जुलाई महीने में आयोजित करने का कार्यक्रम था। सीबीएसई बोर्ड के 12वीं कक्षा के छात्रों के पास बाद में परीक्षा देने या फिर पिछली तीन आंतरिक परीक्षाओं में प्रदर्शन के आधार पर मूल्यांकन का रास्ता चुनने का विकल्प उपलब्ध रहेगा। परंतु 10वीं कक्षा के छात्रों के लिये पुन:परीक्षा का विकल्प नहीं होगा। आईसीएसई बोर्ड के 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों के पास दुबारा परीक्षा का विकल्प उपलब्ध नहीं होगा।न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर , न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने वीडियो कांफ्रेन्सिंग के माध्यम से सुनवाई के दौरान केन्द्र और सीबीएसई बोर्ड की ओर से सालिसीटर जनरल तुषार मेहता के इस कथन का संज्ञान लिया कि 1 से 15 जुलाई के दौरान होने वाली 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षायें रद्द कर दी गयी हैं। मेहता ने पीठ को सूचित किया कि 12वीं कक्षा के छात्रों के पिछली परीक्षाओं में प्रदर्शन के आधार पर उनका आकलन करने की एक योजना तैयार की गयी है। सीबीएसई ने कहा कि स्थिति अनुकूल होने पर ही दुबारा परीक्षायें आयोजित की जायेंगी और पुन: परीक्षा का विकल्प 10वीं कक्षा के छात्रों को उपलब्ध नहीं होगा।पीठ ने जब यह सवाल किया कि परीक्षा फल घोषित करने के बाद कब से नया शैक्षणिक सत्र शुरू होगा तो सीबीएसई ने बताया कि परीक्षा के नतीजे मध्य अगस्त तक घोषित किये जा सकते हैं। इस बीच, आईसीएसई ने पीठ को सूचित किया कि वह 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को पुन: परीक्षा का विकल्प उपलब्ध नहीं करायेगी और परीक्षाफल पिछले प्रदर्शन के आधार पर ही घोषित किया जायेगा।शीर्ष अदालत ने सीबीएसई और आइसीएसई से कहा कि वह विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुये 12वीं कक्षा के लिये दुबारा परीक्षा, आंतरिक मूल्यांकन, परीक्षा फल की तारीख और पुन:परीक्षा की स्थिति से संबंधित मुद्दों पर एक नयी अधिसूचना जारी करे। पीठ ने कहा, ‘‘आपने कहा है कि जब स्थिति अनुकूल होगी तो परीक्षा आयोजित की जायेगी। लेकिन अलग अलग राज्य में स्थिति अलग अलग हो सकती है। क्या यह निर्णय केन्द्रीय प्राधिकारी लेंगे या राज्य निर्णय लेगा? आप इस स्थिति से कैसे निबटेंगे?’’ पीठ ने कहा कि सीबीएसई की अधिसूचना में आंतरिक मूल्यांकन और समय सीमा के बारे में संकेत दिया जाना चाहिए।मेहता ने कहा, ‘‘इस संबंध में कल तक अधिसूचना जारी कर दी जायेगी।’’ इस मामले की सुनवाई के दौरान पीठ को सूचित किया गया कि दिल्ली, महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे राज्यों ने बोर्ड की परीक्षायें आयोजित करने में असमर्थता व्यक्त की है। न्यायालय कोविड-19 महामारी के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सीबीएसई द्वारा 12वीं कक्षा के लिये एक से 15 जुलाई के दौरान परीक्षायें आयोजित करने संबंधित 18 मई की अधिसूचना रद्द करने के लिये दायर याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा था। आईसीएसई बोर्ड से भी इसी तरह की राहत का अनुरोध किया गया था। इससे पहले, केन्द्र सरकार और सीबीएसई ने मंगलवार को न्यायालय को सूचित किया था कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ रहे मामलों के मद्देनजर एक विशेषज्ञ समिति 12वीं कक्षा की एक से 15 जुलाई के बीच होने वाली शेष परीक्षाओं को रद्द करने के बारे में निर्णय लेने की प्रक्रिया के अंतिम चरण में है और बुधवार तक इस बारे में कोई निर्णय लिया जा सकता है।सीबीएसई की 12वीं कक्षा की परीक्षा में शामिल होने वाले कुछ छात्रों के अभिभावकों ने भी न्यायालय में एक याचिका दायर की थी। इस याचिका में सीबीएसई को पूर्व में ली गई परीक्षाओं के आधार पर परिणाम घोषित करने और इसे शेष विषयों के आंतरिक मूल्यांकन अंकों के औसत के आधार पर तय करने के निर्देश देने का अनुरोध किया गया था। आईसीएसई बोर्ड ने भी न्यायलाय से कहा था कि वह सीबीएसई की परीक्षाओं के मामले में सरकार के फैसले का ही व्यापक रूप से अनुपालन करेंगे। सीबीएसई बोर्ड की 12वीं की परीक्षायें 15 फरवरी से शुरू हुयी थीं। ये परीक्षायें तीन अप्रैल को समाप्त होनी थीं। इसी तरह, 10वीं की परीक्षायें 21 फरवरी को शु्रू हुयीं थीं और उन्हें 29 मार्च को समाप्त होना था, लेकिन इसी दौरान 25 मार्च को देश में कोविड-19 महामारी की वजह से लॉकडाउन घोषित कर दिया गया था।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीHDFC AMC की शानदार लिस्टिंग, पहले ही दिन निवेशकों को हुआ 66% फायदा******HDFC AML lists with 58 percent premium HDFC ग्रुप की नई कंपनी (AMC) के IPO) में में जिन निवेशकों ने पैसा लगाया था उनका निवेश आज पहले ही दिन 66 प्रतिशत बढ़ गया है। HDFC AMC आज शेयर बाजार में लिस्ट हुई है और आज ही इसके शेयर का भाव IPO के इश्यू प्राइस से लगभग 66 प्रतिशत बढ़ गया है। कंपनी का IPO पिछले महीने 25-27 जुलाई के बीच खुला था और यह 83 गुना ओवर सब्सक्राइब हुआ था, IPO का इश्यू प्राइस 1100 रुपए रखा गया था और आज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर इसकी लिस्टिंग 58 प्रतिशत ऊपर यानि 1739 रुपए तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर करीब 57 प्रतिशत ऊपर यानि 1726.25 रुपए पर हुई है। लिस्टिंग के बाद शेयर ने 1832 रुपए का ऊपरी स्तर छुआ है जो इसके इश्यू प्राइस से 66 प्रतिशत अधिक है।बाजार के जानकार छोटी अवधि के निवेशकों को इस शेयर में मुनाफावसूली की सलाह दे रहे हैं जबकि लंबी अवधि के निवेशकों को बने रहने की सलाह भी है। कॉर्पोरेट स्कैन के हेड रिसर्च विवेक मित्तल के मुताबिक कंपनी ने इस शेयर का इश्यू प्राइस काफी ऊंचा रखा था और इसकी लिस्टिंग भी काफी ऊपरी स्तर पर हुई है, ऐसे में छोटी अवधि के लिए अगर किसी निवेशक ने IPO के जरिए निवेश किया था तो उसे मुनाफावसूली कर लेनी चाहिए। विवेक मित्तल के मुताबिक अगर कोई निवेशक इसमें लंबी अवधि के लिए बना रहता है तो उसको फायदा मिल सकता है, अगले 2-3 साल में यह कंपनी मौजूदा स्तर से और 50 प्रतिशत का रिटर्न दे सकती है।शेयर का भाव बढ़ने की वजह से सोमवार को HDFC AMC का बाजार मूल्य बढ़कर 38000 करोड़ रुपए को पार कर गया। HDFC ग्रुप की दो अन्य कंपनियां पहले ही बाजार में लिस्ट हैं, HDFC बैंक देश की तीसरी बड़ी कंपनी है जिसका बाजार मूल्य 5.75 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा है और HDFC देश की 6ठी बड़ी कंपनी है जिसका बाजार मूल्य 3.35 लाख करोड़ रुपए के करीब है। अप इस ग्रुप की तीसरी कंपनी बाजार में लिस्ट हुई है और यह तेजी से आगे बढ़ रही है, अगर इसी रफ्तार से यह आगे बढ़ी तो जल्द ही टाटा ग्रुप को पछाड़ HDFC ग्रुप देश का सबसे बड़ा ग्रुप बन जाएगा।

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीइंडियन नेवी के युद्धपोत INS Ranvir पर ब्लास्ट, नौसेना के 3 कर्मी शहीद, कई घायल******Highlightsमहाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में नौसैन्य डॉकयार्ड में भारतीय नौसेना के जहाज INS Ranvir में मंगलवार को हुए ब्लास्ट में नौसेना के 3 कर्मी शहीद हो गए। भारतीय नौसेना ने बयान में कहा, ‘मुंबई नौसैन्य डॉकयार्ड में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में, आईएनएस रणवीर के एक आंतरिक कक्ष में विस्फोट के कारण नौसेना के तीन कर्मियों की मौत हो गई।’ इसमें कहा गया कि जहाज के चालक दल ने तुरंत प्रतिक्रिया दी और जल्दी ही स्थिति को नियंत्रण में कर लिया। बयान में कहा गया है कि किसी बड़े नुकसान की खबर नहीं है।बयान में कहा गया, ‘आईएनएस रणवीर नवंबर 2021 से पूर्वी नौसैन्य कमान से क्रॉस कोस्ट अभियान तैनाती पर था और जल्द ही बेस पोर्ट पर लौटने वाला था।’ घटना में जहाज को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा है और अब स्थिति नियंत्रण में है। ने कहा कि इस घटना के कारणों की जांच के लिए एक ‘बोर्ड ऑफ इंक्वायरी’ का आदेश दिया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस विस्फोट में घायल हुए 11 नाविकों का स्थानीय नौसैनिक अस्पताल में इलाज चल रहा है।बता दें कि 5 राजपूत श्रेणी के विध्वंसकों में से चौथा आईएनएस रणवीर 28 अक्टूबर 1986 को भारतीय नौसेना में शामिल हुआ था। इस जहाज पर 30 अधिकारी और 310 नाविक तैनात रहते हैं। यह युद्धपोत कई खतरनाक हथियारों और सेंसर्स से लैस है जिनमें सतह से सतह एवं सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइलें, विमान भेदी एवं मिसाइल रोधी बंदूकें और टारपीडो और पनडुब्बी रोधी रॉकेट लांचर शामिल हैं।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीसरकारी कंपनियों में निवेश का बड़ा मौका, 3 नए IPO आएंगे और 3 का प्राइवेटाइजेशन होगा******disinvestmentHighlightsसरकार अगले वित्त वर्ष (1 अप्रैल, 2022 के बाद) में शिपिंग कॉरपोरेशन, बीईएमएल और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (BPCL) की रणनीतिक बिक्री के अलावा ईसीजीसी सहित सार्वजनिक क्षेत्र की तीन कंपनियों की आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (IPO)आईपीओ लाएगी। गुरुवार को एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी।निवेश और लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांत पांडेय ने कहा कि अगले साल के लक्ष्य को सीपीएसई (केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों) में अल्पांश हिस्सेदारी की बिक्री, सीपीएसई को सूचीबद्ध करके और रणनीतिक बिक्री के जरिये पूरा किया जाएगा। पांडेय ने बताया, हमें पवन हंस के लिए कई वित्तीय बोलियां मिली हैं, हम इस प्रक्रिया में आगे बढ़ेंगे। शिपिंग कॉरपोरेशन, बीईएमएल और बीपीसीएल की वित्तीय बोली की प्रक्रिया चल रही है। एचएलएल लाइफकेयर और पीडीआईएल ईओआई चरण में हैं। इसके अलावा अगले वित्त वर्ष में हम ईसीजीसी, वैपकोस और नेशनल सीड्स कॉरपोरेशन के आईपीओ भी लाएंगे। कुछ अल्पांश हिस्सेदारी की बिक्री भी की जाएगी, लेकिन इसकी गुंजाइश कम हो सकती है। यह पूछे जाने पर कि क्या पवन हंस की बिक्री मार्च के अंत तक पूरी हो जाएगी, उन्होंने कहा, हमें देखना होगा कि क्या हम काम पूरा कर सकते हैं। हमें अभी बोलियां खोलनी हैं और फिर मंजूरी हासिल करने के लिए कुछ समय की जरूरत होगी।सचिव ने कहा कि शिपिंग कॉरपोरेशन और बीईएमएल की मुख्य और गैर-प्रमुख परिसंपत्तियों के विघटन की प्रक्रिया चल रही है, जिसके बाद उसकी रणनीतिक बिक्री के लिए वित्तीय बोलियां आमंत्रित की जाएंगी। बीपीसीएल के निजीकरण के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, हम बोलीदाताओं के साथ फंस गए हैं और इसे तेजी से पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि वे बोली लगाने के लिए तैयार हों। सरकार बीपीसीएल में 52.98 प्रतिशत, शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया में 63.75 प्रतिशत, बीईएमएल में 26 फीसदी और पवन हंस में 51 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है।आम बजट में वित्त वर्ष 2022-23 के दौरान 65,000 करोड़ रुपये के विनिवेश का लक्ष्य तय किया गया है। यह आंकड़ा 2021-22 के लिए अनुमानित 1.75 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य से काफी कम है, हालांकि सरकार ने संशोधित अनुमानों में 2021-22 के लक्ष्य को घटाकर 78,000 करोड़ रुपये कर दिया है।

बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंचीHUL Price Hike: अब नहाना और बाल धोना भी महंगा, HUL ने इन साबुन और शैम्पू की कीमतों में किया इजाफा******HUL Price HikeHighlights महंगाई के इस दौर में आपका खाना पीना और गाड़ी चलाना तो महंगा हो ही गया था, वहीं अब नहाने के साबुन और बाल धोने के शैंपू पर भी महंगाई का आक्रमण हुआ है। रोजाना जरूरत के सामान (FMCG) बनाने वाली कंपनी हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) ने एक बार फिर कीमतों में वृद्धि कर दी है।बिजनेस वेबसाइट की खबर के अनुसार एचयूएल ने अपने लोकप्रिय साबुन और शैम्पू ब्रांड की कीमत में 15 फीसदी तक का इजाफा कर दिया है। जनवरी से लेकर मई के बीच हिंदुस्तान यूनिलीवर ने अभी तक तीन बार कीमतें बढ़ाई हैं। बीते दो बार की तरह इस बार भी कंपनी ने कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि को इस बढ़ोत्तरी का कारण बताया है।कीमत में वृद्धि की बात की जाए तो महंगाई की सबसे सख्त मार शैम्पू पर पड़ी है। हिंदुस्तान यूनीलीवर के सबसे ज्यादा बिकने वाले शैम्पू ब्रांड क्लीनिक प्लस की कीमतों में 15 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसके 100 मिली. की बोतल के दाम 15 फीसदी बढ़ गए हैं। वहीं कंपनी के ग्लिसरिन सोप पीयस के पैक के दाम 2.4 प्र​तिशत से 3.7 प्रतिशत तक बढ़ गए हैं। लक्स साबुन के मल्टीपैक वैरिएंट्स की कीमत में 9 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। वहीं सनसिल्क शैंपू के दाम 8 से 10 रुपये तक बढ़ गए हैं।हिंदुस्तान लीवर देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी कंपनी है। ऐसे में इसकी कीमत वृद्धि का झटका देश में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पड़ता है। बता दें कि हिंदुस्तान लीवर ने कच्चे माल का कारण बता इस साल तीन बार कीमतों में बढ़ोत्तरी की है। कंपनी ने फरवरी में तीन से 13 फीसदी की बढ़ोतरी की थी। वहीं अप्रैल में 3 से 20 फीसदी बढ़ोतरी की गई थी। तब सबसे ज्यादा बढ़ोतरी डव और पीयर्स साबुन में की गई थी। इनकी कीमत 20 फीसदी बढ़ाई गई थी।बोपन्नारामकुमारकीजोड़ीएडीलेडइंटरनेशनलकेफाइनलमेंपहुंची6 महीने बाद शुरू हो जाएगी 100 रुपए के नए नोट की प्रिंटिंग, जानिए पुराने नोटों का क्या होगा?****** 50 और 200 रुपए के नए नोटों की तरह अब जल्दी ही 100 रुपए का नया नोट भी बाजार में दिखेगा। अंग्रेजी समाचार पत्र मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक अप्रैल से 100 रुपए के नए नोट की प्रिंटिंग शुरू कर देगा, यानि 6 महीने के बाद नए नोट की छपाई शुरू हो जाएगी जिसके बाद यह मार्केट में आना शुरू हो जाएंगे।रिपोर्ट के मुताबिक अभी 200 और 50 रुपए के नए नोटों की प्रिंटिंग चल रही है जो मार्च तक खत्म होगी, मार्च के बाद ही नए नोट की प्रिंटिंग शुरू हो पाएगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि नए नोट आने के बाद भी 100 रुपए के पुराने मार्केट में बने रहेंगे।रिजर्व बैंक ने हाल ही में 50 और 200 रुपए के नए नोटों को बाजार में उतारा है, हालांकि ये नोट अभी ATM मशीनों से नहीं निकल रहे हैं लेकिन बैंकों के काउंटर्स पर नोट आ चुके हैं और काउंटर से कैश निकलवाने वालों को नए नोट मिल रहे हैं। पिछले साल नवंबर में जब नोटबंदी की घोषणा हुई ती उसके बाद रिजर्व बैंक ने 500 और 2000 रुपए के नए नोट बाजार में उतारे थे।

नवीनतम अद्यतन

रैंक करने के लिए क्लिक करें